Dark Web क्या है और यह कैसे काम करता है

0
Dark Web
Dark Web

Dark Web internet का वह हिस्सा है जिसका यूज hacker कंप्यूटर को हैक करने के लिए यूज करते इंटरनेट तीन हिस्सों में बटा हुआ है पहला Surface Web जिसका यूज़ हम आम लोग करते हैं दूसरा है Deep Web और तीसरा है Dark Web .

आप सभी लोगों को यह जान के हैरानी होगी कि हम लोग इंटरनेट का सिर्फ 4% ही यूज करते हैं जिसे हम surface Web कहते हैं बाकी जितना भी इंटरनेट का हिस्सा है वह सब डीप वेब और डार्क वेब के लिए इस्तेमाल मैं किया जाता है.

वैसे तो आपने कई लोगों से सुना होगा या पढ़ा होगा कि डार्क वेब बहुत ही खतरनाक होता है और हमें इस से दूर रहने के लिए कहा जाता है पर वास्तव में हम में से कई लोगों को इसका सही मतलब और सही जानकारी नहीं है तो आज मैं आप सभी को इसी डार्क वेब के बारे में कुछ बातें बताने वाला हूं.

Internet कितने हिस्सों में बटा हुआ ?

इंटरनेट मुख्य तीन हिस्सों में बटा हुआ है.

  • Surface Web
  • Deep Web
  • Dark Web

Surface Web

Surface web को हम visible web भी खाते है कोई भी चीज जो Search Engine में मौजूद है या हमें गूगल में सर्च करने से वह चीज मिल जाति है उसे हम सरफेस वेब कहते हैं सरफेस web का यूज़ ज्यादातर हम आम आदमी करते हैं। ये WWW का एक हिसा है और इसे कोई भी access कर सकता है

Deep Web

ऐसे वेबसाइट जिससे हम सर्च करके एक्सेस नहीं कर सकते हमें उस वेबसाइट को एक्सेस करने के लिए हमें उस वेबसाइट का URL का पता होना जरूरी होता है बिना URL हम उस वेबसाइट को एक्सेस नहीं कर सकते डीप वेब का उपयोग ज्यादातर बैंक बड़े कंपनी अपने डेटा को सिक्योर करने के लिए यूज करते हैं कंपनीज अपने फाइल को प्रोटेक्ट करके उसका यूआरएल अपने क्लाइंट या फिर यूजर को बता देती है यह URL आपको गूगल में देखने को नहीं मिलेगा यह सिर्फ कंपनी टू यूजर या फिर यूजर टो यूजर में ही उपयोग किया जाता है

Dark web

Dark Web इंटरनेट का वह हिस्सा है जिसे ज्यादातर hacker इस्तेमाल करते हैं डार्क वेब को हम डायरेक्टली एक्सेस नहीं कर सकते ना ही हम इसका यूआरएल के सहायता से इसे एक्सेस कर सकते है डार्क वेब एक स्पिकल Ip Address से ही एक्सेस किया जा सकता है

Dark Web को आप नॉर्मल वेब ब्राउजर से नहीं एक्सेस कर सकते हैं जैसे कि गूगल क्रोम मोज़िला फायरफॉक्स एप्पल सफारी अगर आपको dark web को एक्सेस करना है तो आपको Tor वेब ब्राउज़र को डाउनलोड करना होगा. Tor एक ऐसा वेब ब्राउज़र है जिसके अंदर पहले से ही मल्टीपल वीपीएन प्री इंस्टॉल रहता है जब भी हम कोई चीज tor वेब ब्राउजर में सर्च करते हैं तो Tor वेब ब्राउजर उसको मल्टीपल वीपीएन से कनेक्ट करता है जिससे कि सरवर को लगता है कि आपका IP Address डार्क वेब के server के IP Address से मैच कर रहा है इसलिए Hackers डार्क वेब का ही यूज करते हैं क्योंकि इसमें यूजर का एपी ऐड्रेस ओरिजिनल नहीं रहता है जिससे उनको पकड़ पाना बहुत ही मुश्किल होता है

Dark Web से हमें क्यों दूर रहना चाहिए

डार्क वेब का इस्तमाल जादातर हैकर करते है और डार्क वेब मी जितने भी काम होत है साब illegal होता है जीसका साफ मतलब है की आप जिस भी चीज को वाहा पर search करत हहै वो illegal है और इसे आपका device hack भी हो सकता है और जैसे की ये illegal तो अगर आप किसी तरहा इसको access कर भी लेते है तो पकडे जाने पर आपको इसकी सजा भी मिल सकती है.

डार्क वेब के अन्दर सबी पारकर के गैर क़ानूनी काम होते है जैसे Drug dealing , Arm & Guns Treading , Shooter Hiring , Gambling इतियादी जितने भी गैर क़ानूनी काम है सभी डार्क वेब से ही की जाती है इसलिए हमें इसे दूर रहना चाहिए

अंतिम शब्द

आज हमनी जाना की डार्क वेब क्या होता है और हमें इससे दूर क्यों रहना चाहिए मुझे उमीद है की आपको हमरा आर्टिकल अच्छा लगा होगा है अगर आपके मान में कोई भी doubt होगा तो हामे कमेंट कर के जरुर बतियेगा और अगर आपको हमारा content पढने में अच्छा लगता हूगा तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ जरुर share की जियेगा , धन्वाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here